ABOUT US

Infinity Consciousness Foundation

इन्फ़िनिटी कॉनशियसनैस फाऊडैशन के विषय में

परम पूज्य गुरू माँ तपेश्वरी नन्दा जी के निर्देशन में संचालित एक चैरिटेबल ट्रस्ट है। इस ट्रस्ट के द्वारा पूरे विश्व में अध्यात्मिकता का विस्तार करना , अध्यात्मिक शिक्षा का प्रचार प्रसार करना, तर्क संगत के आधार पर प्रवचन, ध्यान, कुण्डलिनी जागरण, आत्मसाक्षातकार, शारीरिक मानसिक एवं भावानात्मक रूप से स्वस्थ रहने के लिए परंपरागत अभ्यास के नये-नये आयाम, चिकित्सा पद्धतियाँ मुद्रा विज्ञान, लामा – फेरा, शालविक मंत्र रहस्य, योगमाया एवं सरोपा, ट्रिटी सर्कल, हुंकारा विद् हलीम , इनफिनिटी कॉनशियसनैस हिलिंग, (द ) मास्क ऑफ डर्टि साईन स्प्रिच्युअल जर्नी , एलिवेशन ऑफ लाईफ , केरला आयुवेर्द , द गोल्डन मेडिटेशन आज की आवश्यकता के अनुसार बदलते परिवेश एवं संस्कृति सभ्यता के अनुरूप नौजवान पीढ़ी को जागरूक एवं आत्म निर्भर बनाना
पूज्य गुरू माँ तपेश्वरी नंदा जी के द्वारा संचालित इनफिनिटी कॉनशियसनैस फाऊंडेशन ट्रस्ट के सदस्य बनकर मानसिक एवं भावनात्मक तनाव के साथ-साथ असाध्य रोगों से मुक्ति प्राप्त कर तत्व ज्ञान का लाभ उठाएँ | असहाय दबे-कुचले वर्ग के बच्चे, बूढे एवं महिलाओं को आत्म निर्भर बनाने एवं बनने के लिए संपर्क करे |

Guru Maa Tapeshwari Ji

Infinity Consciousness Foundation

गुरू माॅ तपेश्वरी जी

तत्त्व ज्ञान विशेषज्ञ गुरु माँ तपेश्वरी जी के द्वारा जानिए तत्त्वो का हमारे अध्यात्म से क्या संबंध है । तत्त्वों से हमें कैसे ज्ञात हो हमारा कौन सा तत्त्व है उस तत्त्व के आधार पर हमारा परमात्मा प्राप्ति का क्या मार्ग है । हमारे शरीर में यदि कोई रोग है, तो वह किस तत्त्व की अधिकता और न्यूनता के कारण है। तत्त्वों कि आधार पर जाने हमारा लक्ष्य क्या होना चाहिए या जो लक्ष्य हमने सोचा है वह हमारे तत्त्व के अनुसार उचित है या अनुचित यदि हमारे तत्त्व हमारे लक्ष्य के अनुचित है तो उस तत्त्व को किस तत्त्व से उचित करे। इन तत्त्वो को किस तत्त्व से उचित करे। इन तत्त्वों का संबंध हमारे चक्रों से भी है। जो कि हमारे शरीर में जन्म से ही होते है। जानिए आपके शरीर में कौनसा चक्र जागृत है कौनसा नहीं। चक्रों से रोग, दोष एवं जीवन जीने की कला के विषय में जान सकते है। जितना महत्व ग्रह नक्षत्रो का है। तत्त्वो का भी हमरी जीवन शैली पर उतना ही प्रभाव पड़ता है । अपना तत्त्व हम जन्म तिथि के द्वारा जान सकते है यदि किसी की जन्म तिथि नहीं है तब चक्र ज्ञान से हम अपना तत्त्व जान सकते है और अपने जीवन को सुखमय बना सकते है । तत्त्व ज्ञान के द्वारा आध्यात्मिक मार्ग, व्यवसाय, वैवाहिक संबंध, अरोग्यता, सुख-समृद्धि का मार्ग सुगम एवं सफल बनाये