SPIRITUAL JOURNEY
‘The’ Mask of Mask of Dirty Sign-a Real Journey
A spiritual journey is the only successful journey in coordinating with the happiness and misery in this life, moving towards achieving the goal. To balance the chemical element, mind, soul and life in the journey, or to balance regularly by a guru is a spiritual journey.
Spiritual means by means of prana energy, or the creation of the existence of self, the will, the self-realization or the Kundalini awakening. The truth of living death across the dream of becoming a master, experience of samadhi, communion or communication is the spiritual journey.
The Mask of Dirty Sine: – Every body’s disease, pressure, unbalanced chemical reaction, reaction, deaf environment, pressure effect of negative thoughts, desire, voluntary unintended, unresolved question, all of the shadow shadows falling towards the forehead or palm ) And the use of energy, magnetic pressure, or laser beam (rhinestone), by removing these symbols by beaming grasping and tapping treatment The Ia can and purity of God can be achieved realization, spiritual and mental peace.
This is a treatment. Beneficial in incurable diseases, it can be obtained from a special time by the master mother. Or they can be obtained by a few selected disciples.

SPIRITUAL JOURNEY
‘द’ मास्क ऑफ़ मास्क ऑफ डर्टी साइन-स्प्रिच्युअल जर्नी
एक आध्यात्मिक यात्रा इस जीवन में सुख-दुख के साथ समन्वय करते हुए लक्ष्य प्राप्ति की ओर बढ़ना ही एक मात्र सफल यात्रा है। बस यात्रा में शरीर के रासायनिक तत्व, मन, आत्मा और प्राण सभी का संतुलन कर लेना या किसी गुरू के द्वारा नियमित रूप से संतुलन कराना आध्यात्मिक यात्रा है।
आध्यात्मिक अर्थात प्राण ऊर्जा द्वारा उपचार या फिर स्वयं के अस्तित्व का निर्माण, दृण इच्छा शक्ति, आत्म साक्षात्कार या फिर कुंडलिनी जागरण। गुरु बनने का स्वप्न, समाधि का अनुभव, सम्प्रेषण या सम्प्रेषण के पार जीवित मृत्यु का सत्य ही आध्यात्मिक यात्रा है।
द मास्क ऑफ डर्टी साईन :- शरीर के हर रोग, दबाव, असंतुलित रासायनिक क्रिया, प्रतिक्रिया, बहरी वातावरण नाकारात्मक विचारो का दबाव प्रभाव, इच्छा, स्वेच्छा अनुतरित्त, अनसुलझे प्रश्न रहस्य सभी को माथे या हथेली के एक ओर पड़ने वाली छाया प्रतिछाया (Creals) के द्वारा जाना जा सकता है और ऊर्जा, चुम्बकीय दबाव या फिर लेज़र बीम (स्फटिक) के प्रयोग बीमिंग ग्रेजिंग तथा टैपिंग के द्वारा इन चिन्हो को हटा कर उपचार किया जा सकता है और पवित्रता से ईश्वर प्राप्ति, आत्मिक एवं मानसिक शांति को प्राप्त किया जा सकता है।
यह एक उपचार है। असाध्य रोगो में लाभप्रद इसे विशेष समय लेकर गुरु माँ से प्राप्त किया जा सकता है। या फिर उनके कुछ चुनिन्दा शिष्यों द्वारा प्राप्त किया जा सकता है।