श्री चक्र

आज परिवार विखर रहा है , परिवार में लोग लड़ाई  झगड़ें में उलझकर रह गए जो हमें रस्ते से अलग करते हैं । समस्या यह हैं  कि व्यक्ति सोचता है उसके परिवार में सुख-शांति बनी रहे, परिवार सही चले, परंतु कैसे’ ऐसे में आपको निराश होने की जरुरत नहीं । गुरु धाम आपके लिए लाया है

” श्री चक्र “ जिसका प्रयोग कर बुद्धि-विवेक से आप परिवार में हर तरफ से उन्नति पा सकते हैं । जिस तरह हर मर्ज की दवाई एक सफल डाक्टर ही सही देता है ठीक उसी प्रकार हमें हर बात पर गौर करना चाहिए कि परिवार संबंधी दृष्टि से हमारी आय, सुख-शांति सदा बनी रही इसके जब हमारे पुरे परिवार पर जहां तक आपका दायरा है आप तक ” श्री चक्र “ की ऊर्जा पहुंचती है ।हम जिस परिवेश में रहते है वह कण-कण में इतनी समा जाती है कि हमें चारो ओर से सुख मिले, जीवन में कोई रुकावट न आये ।

यदि आपने अपनी छत दो कमरे बनवा कर टाला लगा दिया और  कई महीनों तक वहां नहीं गए और फिर चाहते है कि घर में बरकत व लाभ हो तो वहां कैसे लाभ होगा, यदि आपने ” श्री चक्र “ लगाया और ऊपर के कमरों में आप नहीं गए तो कोई फायदा नहीं, इसे घर में लगाने के पश्चात् घर के हर हिस्से में सप्ताह में एक बार जरूर जाना चाहिए जिससे कण- कण में आपका औरा रम जायेगा । आठों दिशाओं में ” श्री चक्र “ के ‘बीज मंत्र ‘ इतने अच्छे से समाहित हो जायेंगे कि भले ही आप कहीं भी हों जहां-जहां आपका औरा जायेगा ‘बीज मंत्र ‘ वहां काम करेगा, दूसरा गुण

” श्री चक्र “ में यह भी है कि इसे कैफ़िनेडिट कर दिया गया है , इसलिए दोनों ऊर्जा मिलकर दूसरे लोगों को अपने औरा में ले लेती है – जैसे यदि कोई व्यक्ति आपके घर मिलने आया, आपको कुछ नहीं मालूम और वह बुरी नजर, तंत्र, टोटके करे या आप से जलेसि करे, आपके घर हाय डाले तो “श्री चक्र ” कि ऊर्जा अपने आप उसके नकारात्मक भावों को वहीं हटा देगी, घर में सुख शांति बरकरार रहेगी, लक्ष्मी छम-छम करती आपके आंगन आएगी ।